हॉरर फिल्में पसंद करती है सान्या मल्होत्रा |

पहले चरण के लिए नामांकन शुरू, इन सीटों पर होगा मतदान: लोकसभा चुनाव |

मैं किसी पार्टी के लिए प्रचार नहीं करता: आमिर ख़ान |

प्रधानमंत्री मोदी हिंदूस्तान के सविंधान को खत्म करना चाहते हैं – राहुल गांधी |

अक्षय कुमार ने परफॉर्म किया फायर स्टंट, पत्नी बोली- 'घर आओ तुम्हारी जान ले लूंगी' |

पाकिस्तान में मसूद अजहर के रिश्तेदारों समेत 44 हिरासत में |

देश की नजरें चुनाव आयोग पर |

भगवान शिव का वो मंदिर, जिसके सजदे में झुकता है पाकिस्तान! |

भारत पहुंचे विंग कमांडर अभिनंदन, मेडिकल परीक्षण के लिए ले जाया गया |

हंदवाड़ा में आतंकी हमला, 4 सुरक्षाकर्मी शहीद, 8 घायल |

हिंदुस्तान की जीत का अभिनंदन, पाकिस्तान ने पायलट को भारत को सौंपा |

खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, आतंकियों के निशाने पर दिल्ली के 29 महत्वपूर्ण स्थान |

थोड़ी देर में हिंदुस्तान की जीत का अभिनंदन, अटारी बॉर्डर पहुंचे वायुसेना के अधिकारी |

सेना ने खोली पाकिस्तान की पोल, दुनिया के सामने रखे सबूत |

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश |

क्राइम

देवबंद से गिरफ्तार आतंकियों से DGP की पूछताछ, कई अहम खुलासे

2019-02-25 06:00:52

       

नई दिल्ली:/ लखनऊ /उत्तर प्रदेश के देवबंद से पकड़े गए दो संदिग्ध आतंकियों से राज खुलवाने के लिए पूछताछ जारी है। यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने आतंकी शाहनवाज से 4 घंटे पूछताछ की। जानकारी मिली है कि इसमें पुलवामा आतंकी हमले पर भी खुलासा हुआ है।

जैश आतंकी शाहनवाज अहमद तेली और आकिब अहमद को यूपी एटीएस ने देवबंद से गिरफ्तार किया था। इसके बाद से इन दोनों से पूछताछ जारी है। दोनों संदिग्धों के फोन की जांच में पाया गया कि ये वर्चुअल नंबर इस्तेमाल करते थे। इनके पास BBM के फोन थे। जांच में यह भी सामने आया कि इनके मोबाइल में ऐसे ऐप डाउनलोड थे, जो प्ले स्टोर पर मौजूद ही नहीं है।

    जानकरी मिली है कि इन ऐप्स के जरिए ये दोनों संदिग्ध अपने साथियों से संपर्क साधते थे। आतंकियों के इस मॉड्यूल और संगठन के अन्य सदस्यों के बारे में भी अहम सुराग एटीएस के हाथ लगे हैं।

पुलिस का कहना है कि संदिग्ध शाहनवाज अहमद जम्मू कश्मीर के कुलगाम का रहने वाला है। वहीं, आकिब पुलवामा का रहने वाला है। इसी के चलते पुलवामा हमले में दोनों के हाथ होने का शक जताया जा रहा है।

जाहिर है कि उत्तर प्रदेश की एटीएस ने इन दोनों संदिग्धों को सहारनपुर के देवबंद से गिरफ्तार किया था। इन सदिग्धों के पास 32 बोर एक गन और गोलियां भी बरामद की गई थी। इसके अलावा दोनों के पास से जिहादी ऑडियो-वीडियो कंटेंट भी मिला है।

डीजीपी ओपी सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया था कि संदिग्ध शाहनवाज नए आतंकियों की भर्ती का काम था। साथ ही यह लोग युवाओं का ब्रेनवॉश कर उन्हें जैश में शामिल करने का काम करते थे। शाहनवाज को ग्रेनेड एक्सपर्ट भी बताया है।

Author : संतोष यादव


Showing page: 1/1