हॉरर फिल्में पसंद करती है सान्या मल्होत्रा |

पहले चरण के लिए नामांकन शुरू, इन सीटों पर होगा मतदान: लोकसभा चुनाव |

मैं किसी पार्टी के लिए प्रचार नहीं करता: आमिर ख़ान |

प्रधानमंत्री मोदी हिंदूस्तान के सविंधान को खत्म करना चाहते हैं – राहुल गांधी |

अक्षय कुमार ने परफॉर्म किया फायर स्टंट, पत्नी बोली- 'घर आओ तुम्हारी जान ले लूंगी' |

पाकिस्तान में मसूद अजहर के रिश्तेदारों समेत 44 हिरासत में |

देश की नजरें चुनाव आयोग पर |

भगवान शिव का वो मंदिर, जिसके सजदे में झुकता है पाकिस्तान! |

भारत पहुंचे विंग कमांडर अभिनंदन, मेडिकल परीक्षण के लिए ले जाया गया |

हंदवाड़ा में आतंकी हमला, 4 सुरक्षाकर्मी शहीद, 8 घायल |

हिंदुस्तान की जीत का अभिनंदन, पाकिस्तान ने पायलट को भारत को सौंपा |

खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, आतंकियों के निशाने पर दिल्ली के 29 महत्वपूर्ण स्थान |

थोड़ी देर में हिंदुस्तान की जीत का अभिनंदन, अटारी बॉर्डर पहुंचे वायुसेना के अधिकारी |

सेना ने खोली पाकिस्तान की पोल, दुनिया के सामने रखे सबूत |

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश |

क्राइम

दिल्ली-नोएडा के बड़े अस्पतालों का सच, हो रहा किडनी का काला कारोबार

2019-02-23 03:59:19

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली व नोएडा में तीन नामी गिरामी हॉस्पिटलों में किडनी रैकेट का खुलासा हुआ है। जिसमें पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। ये गैंग अस्पतालों से 25 से 30 लाख में किडनी और 70 से 80 लाख में लिवर का सौदा किया करते थे। पकड़े गए आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि कानपुर, दिल्ली लखनऊ व कोलकाता के बिचौलिए भी शामिल हैं। यानी इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि देश के इन शहरों में बड़े स्तर पर ये काला धंधा चलता था।पूछताछ में दिल्ली के दो बड़े अस्पतालों के कोआर्डिनेटरों का नाम सामने आया है।

करोड़पति आदमी टी राजकुमार है मास्टरमांइड 

इस काले कारोबार का सरगना कोलकाता का करोड़पति आदमी टी राजकुमार बताया जा रहा है। वहीं कई बड़े-बड़े नामचीन डॉक्टरों का नाम भी शामिल है। इन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली पुलिस की एक टीम को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के लिए भेजा गया था। जिसमें इस पूरे गैंग के मास्टरमांइड टी राजकुमार, सहित 6 लोगों की गिरफ्तारी हुई है।

बिचौलिए से हुआ खुलासा 

आपको बता दे कि इस काले कारोबार का खुलासा पुलिस को उस वक्त लगा जब एक जानकार ने किड़नी सौदेबाजी करने वाले गैंग की बाते सुनी। इसके बाद क्राइम ब्रांच और नौबस्ता पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्रवाई शुरू करते हुए सबसे पहले बिचौलिए को धरदबोचा। उसके बाद उसने एक-एक कर सभी के नाम उजागर कर दिए।

Author : संतोष यादव


Showing page: 1/1